100-50 के नकली नोट मार्केट में पहुंचे, इन 9 फीचर्स से करें आप असली नोटों की पहचान!

0
103

राजस्थान अजमेर के क्लॉक टावर थाना पुलिस ने रविवार को नकली नोट छापने वाली गैंग को अरेस्ट किया। इस दौरान गैंग का मास्टरमाइंड और दो अन्य को गिरफ्तार किया। आरोपी दीपावली के बाद से 100 और 50 रुपए के नकली नोट छाप रहे थे। अब तक करीब 1.50 लाख रुपए के नकली नोट बाजारों में चलाना कबूला है।

आरोपियों के कब्जे से स्कैनर, 2500 रुपए के नकली नोट, नोट छापने का कागज, डाई, कटर, दो बाइक सहित अन्य सामान बरामद किया गया है।
– पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आरबीआई एक्ट में प्रकरण दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
– थानाप्रभारी रमेंद्र सिंह के अनुसार किशनगढ़ गांधीनगर स्थित चमड़ाघर मालियों की ढाणी निवासी रवि कुमार प्रजापति, चमड़ाघर लुहार कॉलोनी निवासी प्रहलाद प्रजापत और रूपनगर रोड लुहार कॉलोनी तितभारी गांव निवासी हरिराम जाखड़ को अरेस्ट किया गया है।

– पुलिस ने बताया कि आरोपी हरिराम गैंग का सरगना है। मार्बल व्यवसाय करता था, नुकसान होने के कारण व्यवसाय डूब गया।
– इसके बाद हरिराम चरस की लत का शिकार हो गया। चरस पीने के लिए पैसे नहीं होने के कारण नकली नोट छापने की प्लानिंग की।
– रवि और प्रहलाद दोनों को लालच देकर अपने साथ ले लिया। तीनों मिलकर स्कैनर, कलर प्रिंटर, कटर और डाई का इस्तेमाल कर नकली नोट छापने लगे।
– तीनों मिलकर हूबहू असली जैसे दिखने वाले 100-50 रुपए के नोट छापकर भीड़भाड वाले बाजारों में 15 से 25 रुपए की चीजें खरीदकर छोटे दुकानदारों को देकर खपा रहे थे।

LEAVE A REPLY